उत्तरकाशी के आपदाग्रस्त मांडो व कंकराड़ी गांवों में पहुंचे मुख्यमंत्री धामी

मांडो गांव का भ्रमण कर गांव की सुरक्षा के लिए गदेरे के दोनों तरफ बाढ़ सुरक्षा के कार्य  कराने के निर्देश दिए। आपदा प्रभावित परिवारों के विस्थापन एवं अतिवृष्टि से ध्वस्त पुलों व आंतरिक मार्गो के पुनर्निर्माण के निर्देश। मृतक के आश्रित परिवारों को दी जाएगी 04 लाख रुपये की अनुमन्य सहायता, मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से भी दी जाएगी एक लाख रुपये की आर्थिक मदद।

0
68

उत्तरकाशी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बुधवार को उत्तरकाशी जिले के आपदा प्रभावित मांडो व कंकराड़ी गांव पहुंचे। मुख्यमंत्री ने आपदा से नुकसान की जानकारी ली और प्रभावितों से बात की। उन्होंने आपदा प्रभावितों को हरसंभव मदद का भरोसा दिया।

मुख्यमंत्री धामी ने ग्रामीणों की मांग पर जिलाधिकारी को मांडो गांव के विस्थापन की प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए। जल्द ही भू-वैज्ञानिक सर्वे कराने और विस्थापन की कार्रवाई के निर्देश दिए।

आपदा में मृतक के पति देवानन्द भट्ट सर्प जोगत गांव में बेसिक स्कूल में अध्यापक हैं। उनकी माता अनपूर्णा देवी ने उनका स्थानान्तरण जिला मुख्यालय के नजदीकी स्कूल में करने की मांग की। सीएम ने तत्काल उनका स्थानांतरण जिला मुख्यालय में करने के निर्देश डीएम को दिए।

मांडो गांव के बाद मुख्यमंत्री कंकराड़ी गांव पहुंचे। जहां उन्होंने मृतक सुमन के परिजनों से मुलाकात करके हरसंभव मदद का भरोसा दिया।

मुख्यमंत्री ने आपदा पीड़ितों को आपदा राहत की मद से चार लाख रुपये तथा एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से देने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने प्रभावित गांवों के विस्थापन, क्षतिग्रस्त पुलों व आन्तरिक मार्गों के शीघ्र निर्माण के निर्देश जिलाधिकारी को दिए। इस दौरान जिला प्रभारी मंत्री गणेश जोशी, प्रभारी सचिव मुख्यमंत्री एसएन पांडे, जिलाधिकारी मयूर दीक्षित, एसपी मणिकांत मिश्रा, सीडीओ गौरव कुमार, भाजपा जिलाध्यक्ष रमेश चौहान, ब्लाक प्रमुख शैलेंद्र कोहली आदि उपस्थित रहे।

Keywords: Disaster Management, CM Uttarakhand, Uttarakhand CM, Pushkar Singh Dhami, Mukhyamantri Vivekadhin kosh, Rehabilitation work

LEAVE A REPLY