21.9C
Dehra Dun
Saturday, June 19, 2021

study

जीएम क्राप्स का विज्ञान क्या हैं, आइए जानते हैं

नीला केला (Blue banana) प्राप्त करने के लिए केले के डीएनए (DNA) में ब्लूबेरी (Blueberry) का डीएनए डाला जा सकता है। विनिमय दो या दो से अधिक जीवों के बीच किया जा सकता है। यहां तक कि एक पौधे में मछली के जीन का परिचय भी दिया जा सकता है। आपको विश्वास नहीं होता? इस तथ्य पर विचार करें। एक आर्कटिक मछली के जीन को टमाटर में डाला गया, ताकि इसे ठंड के प्रति सहनशील बनाया जा सके। इस टमाटर ने मोनिकर 'मछली टमाटर' (moniker ‘fish tomato’) प्राप्त किया। लेकिन यह कभी बाजार में नहीं पहुंचा।

Video: कालाबाजारी और कर्जे के दुष्चक्र में फंसा दुग्ध उत्पादन

दुग्ध की गुणवत्ता तो तभी सही होगी, जब पशुपालन के लिए जरूरी सुविधाएं एवं संसाधन बिना किसी रूकावट के उपलब्ध होंगे। लॉकडाउन में पशुआहार की कालाबाजारी ने दाम अनियंत्रित और मनमाने कर दिए। गर्मियों में पशुओं के लिए पर्याप्त चारे और पानी का अभाव है। बीमारी में पशुओं की चिकित्सा के लिए व्यवस्था का साथ नहीं मिल पा रहा है। दुग्ध उत्पादन से होने वाली आय श्रम और लागत को पूरा नहीं कर पा रही है, ऐसे में पशुपालकों के समक्ष कर्जा लेने या पशुओं को बेचने के अलावा कोई और विकल्प नहीं है।

ब्लैक फंगसः कम प्रतिरोधक क्षमता, मधुमेह से पीड़ित लोगों में ज्यादा देखने को मिलती है

गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट ने लोगों के फायदे के लिए सामान्य शब्दों में बताया, अगले चरण में, “फंगस हमारी रक्त कोशिकाओं में प्रवेश कर जाता है, हमारे ऊतकों को ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होती है और वे मर जाते हैं, और जब ऊतक मर जाते हैं तो उनका रंग काला हो जाता है। यही वजह है कि म्यूकोरमाइकोसिस के लिए ब्लैक फंगस नाम का इस्तेमाल किया जाता है।”

प्रकृति पर तीन बड़े खतरे- जलवायु परिवर्तन, प्रकृति क्षरण और प्रदूषण

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने कहा कि जलवायु परिवर्तन, प्रकृति क्षरण और प्रदूषण – तीन बड़े...

VIDEO- मिल्क स्टोरीः क्या पानी के भाव खरीदा जा रहा है किसानों से दूध

राजेश पांडेय उत्तराखंड सरकार पशुपालन को प्रोत्साहित करने का दावा करती है, पर सरकार के...

2021 से 2025 में कम से कम कोई एक वर्ष अब तक का सबसे गर्म साल होगा !

वर्ष 2021-2025 की अवधि में 90 फ़ीसदी सम्भावना है कि कम से कम कोई एक...

कोविड की जांचः नमक के पानी से गरारे से, तीन घंटे में रिपोर्ट

वैश्विक महामारी कोविड-19 का प्रकोप शुरू होने के बाद से ही भारत में जांच के...

पीपीई किट के लिए वेंटिलेशन सिस्टम ‘कोव-टेक’

इंडिया साइंस वायर भारत समेत पूरी दुनिया कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए पीपीई किट और...

रिपोर्टः मानव अस्तित्व के लिए बहुत जरूरी है जैवविविधता को बनाए रखना

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार वर्ष 1980 के बाद से समुद्री जल में 10 गुना प्लास्टिक प्रदूषण की बढ़ोतरी देखने को मिली है, जिसके कारण कम से कम 267 समुद्री प्रजातियों के लिए खतरा बढ़ गया है।

आ गया ‘फेक-बस्टर’, अब आएगी वर्चुअल फरेबियों की शामत

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रोपड़, पंजाब और मॉनाश यूनिवर्सिटी, ऑस्ट्रेलिया Indian Institute of Technology, Ropar, Punjab...

सर्वेः ब्लड प्रेशर मापने के लिए मरकरी वाला यंत्र ही डॉक्टरों की पहली पसंद

वर्तमान में डिजिटल उपकरण तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं। इसके बाद भी ब्लड प्रेशर...

कोविड-कचरे को कम कर सकती है आईआईटी मंडी की नई खोज 

देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर अपने चरम पर है। कोरोना टीकाकरण का अभियान...

अच्छी सेहत के लिए बहुत कुछ है कैथा यानी वुड एप्पल में

भारत में ऐसे कई परंपरागत भोजन हैं, जिनका उपयोग कम हो गया है। इन्हीं में...

सीएम साहब! प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती कोरोना पीड़ितों को आर्थिक संकट से बचा लो

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का कहना है कि उन्हें राजस्व से कहीं अधिक राज्य के...

पीसीएस एसोसिएशन ने शासन को बताया, ‘राजधर्म’ क्या होता है

प्रजा के सुख में राजा का सुख निहित है, अर्थात जब प्रजा सुखी अनुभव करे,...

कोरोना संक्रमणः सब तो आपके भरोसे हैं सरकार, पर आप…

वर्ष 2019 में लगभग डेढ़ साल पहले से पैर पसार रही कोरोना महामारी को देखते...

छह वर्ष तक के बच्चों के लिए क्या-क्या हैं पोषक आहार

मानव शरीर को स्वस्थ एवं क्रियाशील बने रहने के लिए उचित पोषण की आवश्यकता होती...

प्लास्टिक प्रदूषण से कमज़ोर तबके अधिक जोखिम में

संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट में कहा गया है कि प्लास्टिक प्रदूषण से हो...

PASS: दून में जल संतुलन के आंकड़े साझा करने के लिए डैशबोर्ड बनाया

देहरादून। USAID और Centre for Urban and Regional Excellence (CURE) ने शुक्रवार को देहरादून शहर...

‘कंगारू मातृत्व’ के सहारे बचाई जा सकती हैं लाखों नवजात ज़िन्दगियाँ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने नवजात शिशुओं को, उनकी माताओं से अलग किए जाने के ख़तरों...

हिमालय क्षेत्र में जलवायु परिवर्तन से प्रभावित हो रहा पौधों का जीवन चक्र

इंडिया साइंस वायर पेड़-पौधों के जीवन-चक्र पर जलवायु परिवर्तन का व्यापक असर पड़ रहा है। पता...

किसी के चुप रहने का मतलब यह नहीं है कि वह कमजोर है

अखबार में बड़े मैनेजर के खास होने का मतलब किसी से भी अभद्रता का परमिट...

मैंने तो मैनेजर को पत्रकारों के इंटरव्यू लेते देखा है

अखबार में मैनेजमेंट बड़ा या फिर एडिटोरियल अखबार में कौन बड़ा है, मैनेजर या फिर संपादक।...

मुश्किल पड़ी तो ट्रेनी और पेज बनाने वालों तक को आगे कर देते हैं

कभी कभार डेस्क की गलतियों पर रिपोर्टर की हो जाती है फजीहत अखबारी मीडिया के किस्से...